जन्म अष्टमी

कृष्ण जन्माष्टमी पर विशेष प्रेम का सागर लिखूं!या चेतना का चिंतन लिखूं!प्रीति की गागर लिखूं,या आत्मा का मंथन लिखूं!रहोगे तुम फिर भी अपरिभाषित,चाहे जितना लिखूं…. ज्ञानियों का गुंथन लिखूं ,या गाय का ग्वाला लिखूं..कंस के लिए विष लिखूं ,या भक्तों का अमृत प्याला लिखूं।रहोगे तुम फिर भी अपरिभाषित चाहे जितना लिखूं…. पृथ्वी का मानव लिखूं … Continue reading जन्म अष्टमी

🙏🌹जय द्वारकाधीश🌹🙏

🦚🦚🦚🦚🦚सुदामा के चावलों मेंदखल न थी- प्रेम थामालिनी कुब्जा की कोईशक्ल न थी- प्रेम थाधन्ना की पूजा में कोईअक्ल न थी -प्रेम थामीरा के कीर्तन में कोईनकल न थी-प्रेम थाकौन से हीरे जड़े थेनरसी की खड़ताल मेंक्या बांधकर लाया थानिर्धन ,फ़टे हुए रुमाल मेंवन में जाकर भी खायाद्रौपदी के थाल मेंनित नित माखन लुटागोपियों के … Continue reading 🙏🌹जय द्वारकाधीश🌹🙏

नजर आते हैं

जिनके सबसे करीब होने की उम्मीद हो वो सबसे दूर नजर आते हैं, जरा सी बात हो जाए बस हुज़ूर गुरूर में नजर आते हैं। भाइयों से उम्मीद होती है जबरदस्त वो ही उम्मीद में सदा नजर आते हैं, फोन कर के देख लो बहुत दूर अपनी दुनिया में मसरूफ नजर आते हैं। बेबस सी … Continue reading नजर आते हैं

आओ सखी तीज मनाये 🌸🌸

आओ सखी तीज मनाये 🌸🌸तुम अपने घर बैठो मै अपने घर बैठू🏠कलयुग का नवाचार निभाये 🌺आओ सखी तीज मनाये 💃🏿हाथों पर मेहंदी खूब रचाई 💅इस बार चलो सेनीटाईजर लगाये 🧴क्या लाये लहँगा साड़ी 🥻इस बार नया मास्क मंगाये 😷आओ सखी तीज मनाये 💃🏿खूब खा लिए घेवर पूरी 🥯🍥काढा पी पी दिन बिताये 🥃झूले की पीगे … Continue reading आओ सखी तीज मनाये 🌸🌸