पिता – पुत्र

मेरे पिता का संदेश आओ किसी का यूँही इंतजार करते हैं चाय बनाकर फिर कोई बात करते हैं। उम्र साठ के पार हो गई हमारी बुढ़ापे का इस्तक़बाल करते है। कौन आएगा अब हमको देखने यहां एक दूसरे की देखभाल करते है। बच्चे हमारी पहुंच से अब दूर हो गए आओ फिर से उन्ही को … Continue reading पिता – पुत्र