और उसमें डूबे तुम•••

श्याम की बजी बंसी भक्तिमय हुए तुम राधा सा जगा प्रेम और उसमें डूबे तुम••• ********* कलयुग का पंथ दुनियादारी में तुम पुण्य का संग और उसमें डूबे तुम••• ********* कुछ मीठी कुछ खट्टी भावनाएं व्यक्त करते तुम जिंदगी की भट्टी और उसमें डूबे तुम••• ********* पार उतरती नईया भवसागर में तुम नारायणी है मईया … Continue reading और उसमें डूबे तुम•••