सच्ची मोहब्बत

इंसान की फितरत का पता नहीं उसको सच्ची मोहब्बत का पता नहीं, उस उम्र की क्या बात करें दोस्त जिसमे उसे अपने अपनों का पता नहीं । ****** पाता है नाकामयाबी ये यूंही हर पल उम्मीद का दामन छोड़ना सीखा ही नहीं रहती है जिंदगी में उसके बेपरवाही से हलचल ता उम्र उसकी नज़रें इसलिए … Continue reading सच्ची मोहब्बत