किसी को समझ नहीं आती

चाहतों खत्म नहीं होती

मुसीबतें यूं ही बढ़ जाती है,

Mails खत्म नहीं होती

data input PPT में बढ़ जाती है,

Increment और bonus मिल नहीं पाते

नौकरी खतरे में पड़ जाती है।

कितनी भी मेहनत कर लो तुम

growth किसी और को मिल ही जाती है,

मेहनत करने वालों की कद्र नहीं होती

जी हुजूरी को शोहरत मिल ही जाती है,

Choclate और cake का जमाना है दोस्त

मसालों से समा नहीं बनता,

2 4 काम personal जो कर दोगे

प्रमोशन पक्की हो ही जाती है।

यूं ही नहीं तुमसे छोटी उम्र का बंदा

तुम्हारा superboss बना बैठा है,

इंटेलिजेंस के साथ

थोड़ा मक्खन

थोड़ा पैसा

अपने पास रखो,

कब दरकार हो जाए

किसी को समझ नहीं आती।।

Advertisements

One thought on “किसी को समझ नहीं आती

Leave a Reply