पुरानी दुकानों में नई हिदायत देखी

पुरानी दुकानों में नई हिदायत देखी बीच बाजार हर चीज की नुमाइश देखी, एक बार जो सारा बाजार ना पलटा हो ऐसे उनके लिए हजारों दिलों में ख्वाहिश देखी। हम खुद को खुशकिस्मत समझे उनकी हमारी तरफ झुकी हुई नजर जो देखी, लाख टके की सौगात भी अब कम होगी उनके हर कदम में शुमार … Continue reading पुरानी दुकानों में नई हिदायत देखी

Advertisements