अब इंसान खुदा के भी सामने

जिंदगी में बहुत सी यादों के निशान होते हैं वो कभी ख्याल और कभी जवाब होते हैं। दुनिया मोहब्बत देख कर नफरत करती है कायनात झुक कर फिर भी इलज़ाम अपने सिर लेती है। इंसान अपने मतलब की बात जहां तंहा ढूंढ़ ही लेता है जिसका जवाब ना मिले वो बात लाजवाब होती है। फितरत … Continue reading अब इंसान खुदा के भी सामने

Advertisements