मुस्कुरा जो दिया करते हो

रहमत खुदा की आदत नहीं हुआ करती ज़ज़बा ए मोहब्बत से खुदा मिला करते है। तुम निज़ाम से ताल्लुक भी रखो अगर मिन्नतों से ही खुदा की रहमत के हकदार हुआ करते है। तुम्हारी मुस्कुराहट हमे कुछ यूं मिला करती है, इस नाचीज़ पर नजर ए करम कर दो, हमे कुछ सख्त ताकीद मिला करती … Continue reading मुस्कुरा जो दिया करते हो

Advertisements

राहत इंदौरी को हिन्दुस्तान का जवाब

राहत इंदौरी ने लिखा था "सभी का खून है शामिल यहाँ की मिट्टी मेंकिसी के बाप का हिंदुस्तान थोड़ी है "~ अब इंदौरी और उसके चमचों को ये रहा हमारा भी जवाब: “ख़फ़ा होते हैं हो जाने दो, घर के मेहमान थोड़ी हैंजहाँ भर से लताड़े जा चुके हैं , इनका मान थोड़ी है ये … Continue reading राहत इंदौरी को हिन्दुस्तान का जवाब