अब जल्द ही कल्कि आने वाले हैं

हारिमय शिव आभा कुछ ऐसी काली के संग विराजे हैं , पीला चाँद अँग वस्त्र भी पीला सभी रुद्राक्ष पीले धारे हैं , कमंडल वासुकि और छाल सभी भए पीले हरी से हुए सारे हैं , शिव दे रहे चेतना जागो अब मेरे बच्चों एक जुट सब सनातनी अब सारे हैं । एक हो जाओ … Continue reading अब जल्द ही कल्कि आने वाले हैं